Sunday, 5 July 2015

गुमनाम लाश
----------------------
"अगर तुमने मेरी पत्नी व बच्चों का पता नहीं बताया तो मैं मीडिया में जा कर तुम सबका भंडा फोड़ कर दूंगा । " रणजीत ने चिल्लाते हुए मीटिंग रूम में अपने चीफ को चेतावनी दी ।

' तुम ऐसा कुछ भी नहीं करोगे !! ' यह तो बस एतिहात के तहत उठाया गया कदम है , तुम्हारा उस लड़की से नजदीकी हमारे सिस्टम के खिलाफ है , इसे हम मंजूरी नहीं दे सकते हैं । 

और उस कसम का क्या जो तुमने देश के प्रति वफादारी की ली है ? 
कसम देश भक्ति की ली थी ब्लैकमेल होने की नहीं उसने जवाब दिया और तेजी से कमरे के बाहर चला आया। 

शहर के बाहर हाई वे पर एक कुचली हुई लाश पड़ी थी जिसका दाह संस्कार प्रशासन ने एक गुमनाम व्यक्ति के रूप में कर दिया।

( पंकज जोशी ) सर्वाधिकार सुरक्षित ।

लखनऊ । उ.प्र

05/07/2015

No comments:

Post a Comment